Text Size

  • Increase Text Size
  • Decrease Text Size
  • Normal Text Size

Current Size: 100%

INDEPENDENCE DAY 2020 HINDI SPEECH

स्वतंत्रता दिवस 2020-संबोधन

 

प्रिय शहर निवासियों,

मैं 74 वें स्वतंत्रता दिवस पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।

15 अगस्त का दिन, हमारी राष्ट्रीय स्मृति में एक स्थाई स्मृति की तरफ छप चुका है और प्रत्येक भारतीय का ये कर्तव्य है कि वे इस पवित्र दिन का दिल से सम्मान करें। इस शुभ दिन पर, मैं उन सभी बहादुर सैनिकों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करना चाहूंगा, जिन्होंने हमारी एकता, अखंडता और स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी और अपने अनंत बलिदान और त्याग दिए।

 

हमारा राष्ट्र युद्धों सहित कई कठिन समयों से गुजरा है, और हर बार हम विजय हासिल कर दोगुने जोश से आगे बढ़े हैं। आज, हम सामूहिक रूप से एक कोविड-19 जैसी महामारी का सामना कर रहे हैं जिसने पूरे विश्व के लिए एक स्वास्थ्य संकट पैदा कर दिया है और हमारे जीवन पर इसका गहरा प्रभाव पड़ा है।

ये एक कठिन समय हैं और हमें एक मजबूत विश्वास के साथ एक एक साथ आना चाहिए और एक-दूसरे के साथ तालमेल बिठाते हुए इसका सामना करना होगा। ये समझना होगा कि बेहतर दिन हमारे आगे ही हैं। दुनिया भर के राष्ट्र भी विज्ञान और प्रौद्योगिकी का उपयोग कर इन मुश्किलों से बाहर निकले हैं और सफलताएं हासिल की हैं। सभी के साथ मिलकर हम इस महामारी से निपट रहे हैं, और मैं आपको पूरी जिम्मेदारी के साथ आश्वस्त करना चाहता हूं कि अगर हम एकजुट और दृढ़ रहें, तो हम इसे दूर कर देंगे।

मैं हमारे माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी जी के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करना चाहता हूं, जिन्होंने नोवेल कोरोना वायरस से लड़ने में हमें अद्वितीय सहयोग दिया। उनके स्पष्ट दृष्टिकोण और मजबूत नेतृत्व में, हम इन चुनौतीपूर्ण समय के दौरान हर बाधा पर जीत प्राप्त करने में सक्षम हैं। भारत ने यह प्रदर्शित किया है कि वह किस तरह से इन चुनौतियों का सामना करता है और उनको नए अवसरों में बदलता है।

 

माननीय प्रधान मंत्री द्वारा देश को आत्मनिर्भर बनने के लिए इस चुनौतीपूर्ण हालात और समय का उपयोग करने के लिए दिए गए स्पष्ट आह्वान को काफी अच्छी प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है और इससे भारतीय अर्थव्यवस्था को फिर से मजबूत बनाने की दिशा में कदम चलने शुरू हो गए हैं। भारत सरकार ने आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में कड़ी प्रतिस्पर्धा के अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं। इससे संपूर्ण तौर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेंगे और सरकार ने कोविड से बुरी तरह से प्रभावित गरीबों, मजदूरों, प्रवासियों को सशक्त बनाने के लिए आगे बढ़ना शुरू कर दिया है।

 

दूसरी ओर चंडीगढ़ और पंजाब ने भी कोरोना वायरस से निपटने में असाधारण रिकवरी दर दिखाई है। इस महामारी से लड़ने में पेश आ रहे हमारे संघर्षों और मुश्किलों का आंकड़ा कम नहीं है,  लेकिन आखिरकार,  आपके समर्थन और कोरोना वॉरियर्स के सामूहिक प्रयासों के साथ  हम स्थिति से प्रभावी ढंग से निपटने में सक्षम हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी चंडीगढ़ प्रशासन की सफलता को मान्यता दी है, विशेष रूप से बापू धाम कॉलोनी में संक्रमण के प्रसार को रोकने में, चंडीगढ़ प्रशसान के प्रयासों को काफी सराहा गया है।

 

मैं समझता हूं कि कोविड19 के खिलाफ जारी युद्ध हमें और अधिक चुनौती देने वाला है, और हम इसके लिए तैयार हैं। इस पूरे संघर्ष में एक सबक काफी अच्छी तरह से सीखा गया है, और हम सभी चंडीगढ़ को एक मेडिकल हब बनाने के लिए तैयार हैं, जिसमें इस तरह के किसी भी स्वास्थ्य खतरे से निपटने के लिए असाधारण सुविधाएं उपलब्ध हों।

 

हम सभी जानते हैं कि जब तक इस महामारी से निपटने के लिए एक प्रभावी वैक्सीन विकसित नहीं की जाती है, तब तक हमें अधिक सावधानी के साथ अपने और अपने परिवारों का ख्याल रखना होगा। यह प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है कि वह प्रकृति का सम्मान करे और कुछ नियमों का पालन करे जो हमारी भलाई के लिए आवश्यक हैं। मैं आप सभी से आग्रह करता हूं कि सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखें, मास्क पहनें, और सबसे ज्यादा अपने ही परिवार के सदस्यों के कल्याण के लिए भीड़-भाड़ वाली जगहों में जाने से बचें। आइए हम सब मिलकर इससे लड़ने का संकल्प लें और हमेशा की तरह मजबूत होकर उभरें।

 

इस पूरे संघर्ष में, हमारे सच्चे कोरोना योद्धाओं की कड़ी मेहनत और समर्पण का उल्लेख करना जरूरी है, जो इस महामारी से लड़ने और शहर को इस वायरस का शिकार होने से बचाने में सबसे आगे रहे हैं और स्वेच्छा से आगे निकलकर आए हैं और मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। मैं इस पूरे महामारी के लिए पूरे राजनीतिक नेतृत्व के साथ ही सभी डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कर्मचारियों, पुलिस अधिकारियों, नगर निगम के कर्मचारियों, राजस्व अधिकारियों, एनजीओ, राजनीतिक दलों, रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशनों और मीडिया के मित्रों का मजबूती से हमारे साथ खड़ा रहने और हमारी हर संभव मदद करने के लिए आभार व्यक्त करना चाहता हूँ। आपके निस्वार्थ योगदान और अथक प्रयासों ने एक गंभीर खतरे को हल करने में मदद की है, जो अभी तक खत्म नहीं हुआ है। मुझे यकीन है कि आप सभी इस उत्साह को बनाए रखेंगे और इस वायरस के प्रसार को रोकने में पहले की तरह एक साथ आएंगे। फ्लू क्लीनिकों की स्थापना से लेकर कोविड समर्पित अस्पताल, कोविड केयर सेंटर्स, क्वारेंटाइन सेंटर्स, चौबीसों घंटे एम्बुलेंस सेवाएं प्रदान करना, शहरी झुग्गी-झोपड़ी और कॉलोनियों पर विशेष जोर देने के लिए घर-घर सर्वेक्षण का प्रावधान करने तक का हर काम स्वास्थ्य विभाग ने सफलता से किया है।

 

इस महामारी ने प्रवासी मजदूरों को सबसे अधिक प्रभावित किया था, और उन्हें सहायता प्रदान करने के लिए, हमारे अधिकारियों ने यह सुनिश्चित किया कि उन्हें प्रशासन से हर संभव सहायता मिले। इन कठिन समय में श्रमिक ट्रेनों और बसों के माध्यम से 45000 से अधिक प्रवासी मजदूरों को घर भेजा गया। साथ ही, उनको हर संभव मदद भी प्रदान की गई।

 

रेड क्रॉस सोसाइटी कर्फ्यू लॉकडाउन अवधि के दौरान सभी जरूरतमंदों को भोजन प्रदान करने के लिए हमेशा सक्रिय रही है। यह सुनिश्चित करने के लिए, कि कोई भी परिवार भूखे पेट ना रहे, सोसायटी ने लगातार हर समय भोजन के पैकेट वितरित किए हैं।

 

प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के तहत, हमने लाभार्थियों को उनके घर के दरवाजे पर मुफ्त में अनाज वितरित किया। चंडीगढ़ प्रशासन ने इस कोविड-19 की स्थिति के दौरान मुश्किलों में फंसे प्रवासियों और काम से वंचित मजदूरों को राहत प्रदान करने और उन्हें खाद्यान्न की उपलब्धता सुनिश्चित करने में मदद करने के लिए आत्‍मनिर्भर भारत योजना को सफलतापूर्वक लागू किया है।

 

पूर्व सैनिकों को कुछ राहत प्रदान करने के लिए जो बिना पेंशन के सेवानिवृत्त/ रिलीज किए जाते हैं और 65 वर्ष से अधिक आयु के हैं, वित्तीय सहायता को प्रति माह 2500 रुपये से बढ़ाकर 5000 रुपये किया गया है। इसके साथ ही सूबेदार मेजर रैंक या नौसेना और वायु सेना में समान रैंक सैनिकों की विधवाओं को वित्तीय सहायता भी 500 रुपये से बढ़ाकर 1000 रुपये प्रति माह की गई है।

 

हाल ही में मां बनी महिलाओं और गर्भवती महिलाओं की कठिनाइयों को कम करने के लिए, चंडीगढ़ प्रशासन के सभी आउटसोर्स/ कांट्रेक्ट के आधार पर कार्यरत महिला कर्मचारियों को मातृत्व अवकाश दिया जा रहा है।

 

इन संकटों के बीच भी, हमारे अधिकारी अपने कर्तव्यों को निभाने में समर्पित रहे हैं और उन्होंने ये सुनिश्चित किया है कि इस जीवंत शहर में जीवन एक पल के लिए भी नहीं रुके और ना ही थमा है। बीबीसी ने इस सिटी ब्यूटीफुल को एक  उत्तम  शहर के रूप में भी  चिन्हित किया है। नगर निगम विभिन्न स्मार्ट सिटी परियोजनाओं जैसे कि ई-गवर्नेंस सेवाओं के कार्यान्वयन, रीसाइक्लिड जल वितरण नेटवर्क के लिए एससीएडीए को लागू कर रहा है, एबीडी क्षेत्रों में स्कूल में स्मार्ट स्कूल और बुनियादी ढांचे का कार्यान्वयन, अंडर यूटिलिटी मैपिंग (एसयूई), डड्डूमाजरा में एक विशाल अपशिष्ट खनन परियोजना पर काम कर रहा है। सार्वजनिक बाइक शेयरिंग परियोजना को भी लागू किया गया है। वहीं डड्डू माजरा में एक विशाल कचरे के ढेर से उठने वाली दुर्गंध को जैव खनन के माध्यम से छुटकारा दिलाने और आसपास के निवासियों को कुछ राहत देने के लिए प्रयास किया जा रहा है। अलग-अलग किए गए कचरे को संभालने के लिए शहर में 3.2 और 5.0 सीयूएम क्षमता के 435 वाहन तैनात किए जाएंगे ताकि शहर को डस्टबिन मुक्त शहर बनाया जा सके।

 

मैं, मेयर, सभी पार्षदों, कमिश्नर नगर निगम और कर्मचारियों सदस्यों की सराहना करता हूं, जिन्होंने कर्फ्यू की अवधि के दौरान शहर निवासियों के घर घर जाकर आवश्यक वस्तुओं को प्रदान करके कोरोना के खिलाफ हमारे युद्ध में महत्वपूर्ण योगदान दिया। चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) के साथ मिल कर प्रशासन की बसों का उपयोग जरूरी वस्तुओं के सुगम वितरण सुनिश्चित करने के लिए किया गया और सभी बाजार स्थानों और मंडियों को नियमित रूप से साफ किया जा रहा है।

 

ड्रग की लत जैसी गंभीर समस्या देश में एक गंभीर समस्या बनकर उभरी है। सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण  मंत्रालय के निर्देशानुसार, आज चंडीगढ़ प्रशासन आधिकारिक तौर पर राज्य स्तरीय अभियान “नशा मुक्त भारत को शुरू कर रहा है, जिसमें निवारक शिक्षा और जागरूकता सृजन, उपचार और पुनर्वास आदि पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

 

प्रशासन की सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों में से एक बुनियादी ढांचे को बनाए रखना और सुधारना है। मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि मनीमाजरा में गर्वनमेंट हाई स्कूल का निर्माण काफी हद तक पूरा होने वाला है और चंडीगढ़ पुलिस कर्मियों के लिए 216 नए घरों का निर्माण जल्द ही शुरू होगा। सेक्टर-8 में एक नया मिनी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स पूरा हो गया है और सेक्टर-27 में एक और मिनी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स पूरा होने के करीब है। सेक्टर-25 में न्यू इंटरनेशनल टाइप शूटिंग रेंज का निर्माण जल्द शुरू होगा और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में बिलियर्ड्स और स्नूकर के लिए मिनी स्पोर्ट्स इन्फ्रास्ट्रक्चर, सेक्टर 42 चंडीगढ़ जल्द ही आने वाला है।

 

चंडीगढ़ हाउसिंग बोर्ड ने भारत सरकार द्वारा हाल ही में घोषित अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स योजना के तहत प्रवासी मजदूरों और शहरी गरीबों के लिए मलोया में 2500 खाली फ्लैटों को किराए पर देने की योजना बनाई है।

 

मुझे आपके साथ ये जानकारी साझा करते हुए अपार हर्ष हो रहा है कि चंडीगढ़ ने एक बार फिर एमएचआरडी द्वारा घोषित प्रदर्शन ग्रेडिंग इंडेक्स (पीजीआई) 2018-19 में देश में पहला स्थान हासिल किया है। पिछले सत्र की तुलना में 9.81 प्रतिशत सुधार के साथ बारहवीं कक्षा सीबीएसई का कुल पास प्रतिशत 91.57 प्रतिशत था।

 

शिक्षकों ने इस महामारी के दौरान ऑनलाइन शिक्षण को सुचारू रूप से अपनाया और लागू किया है ताकि छात्रों की पढ़ाई बाधित न हो। स्कूल काउंसलर्स छात्रों की शैक्षणिक मदद और छात्रों के अन्य तनाव/ चिंता मुद्दों के समाधान के लिए उनके साथ नियमित संपर्क में हैं।

 

चंडीगढ़ पुलिस के पास कानून व्यवस्था बनाए रखने का एक उत्कृष्ट रिकॉर्ड है। कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई में उत्कृष्ट कार्य के लिए मैं तहे दिल से चंडीगढ़ पुलिस की सराहना करना चाहता हूं। बल्कि हम सभी उनके प्रयासों की सराहना करते हैं। पुलिस अधिकारी चौबीसों घंटे ड्यूटी पर थे, और वे ये  सुनिश्चित कर रहे थे कि अंतरराज्यीय सीमाओं पर चेकिंग, कंटेनमेंट ज़ोन के दायरे में हालात पर नियंत्रण हो और सोशल डिस्टेंसिंग को अच्छे से लागू किया जाए, लोग मास्क पहने और कर्फ्यू टाइमिंग आदि का पूरी तरह से पालन हो।

 

प्रिय शहर निवासियों,

कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के संबंध में लापरवाही एक उचित दृष्टिकोण नहीं है। इसलिए, मैं चंडीगढ़ के नागरिकों से सतर्क और जागरूक रहने का आग्रह करता हूं। दृढ़ संकल्प और धैर्य दो प्रमुख कारक हैं जो हमें इस वैश्विक खतरे से निपटने में मदद कर सकते हैं। चंडीगढ़ प्रशासन इस स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है, और हम आपको आश्वस्त करते हैं कि हम अपने शहर को सुरक्षित और जीवंत बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाएंगे।

 

मैं चंडीगढ़ प्रशासन और पंजाब सरकार को उसकी शानदार प्रगति के लिए बधाई देता हूं और उनसे कड़ी मेहनत जारी रखने का आग्रह करता हूं। और जैसा कि हम अपने लोगों के लिए अपनी महत्वाकांक्षा का स्तर बढ़ाते हैं, हमें अपने प्रयासों के स्तर को भी बढ़ाना होगा।

सुरक्षित और सतर्क रहें।

जय हिन्द!!!

AttachmentSize
PDF icon FINAL_SPEECH 2020_Hindi_Final (1).pdf138.79 KB